सनी देओल का बड़ा ऐलान: 2024 चुनावों में नहीं उतरेंगे ! जानिए क्या है वजह?

फिल्म गदर-2 की सफलता के बाद अभिनेता सनी देओल चर्चा में हैं। साथ ही, बैंक ऑफ बड़ौदा ने सनी देओल की कोठी की नीलामी के नोटिस को वापस ले लिया है, जिसका कारण तकनीकी मुद्दे में है। इस घटना के बाद, विपक्ष सरकार पर हमलावर है। इसी बीच, सनी देओल ने एक महत्वपूर्ण एलान किया है, जिससे भाजपा को चुनौती मिली है। सनी देओल ने घोषणा की है कि वे आगामी चुनाव में भाग नहीं लेंगे। मीडिया इंटरव्यू में, उन्होंने बताया कि उन्हें राजनीति में रुचि नहीं है, और वे अब केवल फिल्मों में काम करना चाहते हैं। इससे स्पष्ट होता है कि 2024 में गुरदासपुर सीट पर भाजपा एक नए प्रत्याशी को उतार सकती है।

सनी देओल वर्तमान में पंजाब के गुरदासपुर लोकसभा सीट से भाजपा के सांसद हैं। यह सीट भाजपा के लिए महत्वपूर्ण है, और इस पर पहले भाजपा सांसद विनोद खन्ना ने 1999 से 2004 और 2014 से 2017 तक सेवा की थी। विनोद खन्ना के बाद, इस सीट पर उप-चुनाव में कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ जीत दर्ज कर चुके हैं। 2019 में, सनी देओल ने गुरदासपुर सीट पर फिर से भाजपा के प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ा था।

विपक्ष में बदले गए सुनील जाखड़ अब भाजपा में शामिल हो गए हैं, और पंजाब भाजपा की कमान उनके पास है। सनी देओल के खिलाफ गुरदासपुर में असंतोष भी है, और उनके गुमशुदा होने के पोस्टर भी दिखाए गए हैं। कुछ लोगों का आरोप है कि वह गुरदासपुर नहीं आते हैं। हाल ही में, गुरदासपुर में उनकी फिल्म ‘गदर-2’ के खिलाफ भी प्रदर्शन हुआ था।

सनी देओल अपने आवास ‘सनी विला’ को बचाने के लिए प्रयासरत हैं। उन्हें अपने बकाया ऋण का भुगतान करने का इरादा है, जिसमें 56 करोड़ रुपये की राशि शामिल है। बैंक ने ई-नीलामी के नोटिस को वापस ले लिया है।

Leave a Comment